काम मांगो अभियान पर राष्ट्रीय कार्यशाला सर्ड में प्रारंभ

MNREGA-12-Nov-1रांची, 12 नवम्बर 2013:: मनरेगा के तहत काम मांगो अभियान पर पांच दिवसीय कार्यशाला आज सर्ड में प्रारंभ हुई। इसमें छह राज्यों के प्रतिभागियों के अलावा केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकार के पदाधिकारी तथा स्वयंसेवी संगठनों के प्रतिनिधि शामिल हैं। प्रारंभ में सर्ड के निदेशक श्री आर. पी. सिंह ने प्रतिभागियों का स्वागत करते हुए ग्रामीण विकास में मनरेगा की भूमिका पर प्रकाश डाला। इसके बाद झारखंड पंचायत महिला रिसोर्स सेंटर के राज्य समन्वयक डाॅ. विष्णु राजगढि़या ने 18 नवम्बर से दिसम्बर अंत तक छह राज्यों के छह जिलों में काम मांगो अभियान की जानकारी दी। झारखंड के ग्रामीण विकास सचिव श्री अरूण ने झारखंड में मनरेगा के तहत उपलब्धियों तथा नई योजनाओं के संबंध में बताया।

भारत सरकार के मनरेगा संयुक्त सचिव श्री आर सुब्रमण्यम ने मनरेगा योजना के माध्यम से भारत सरकार द्वारा देश के ग्रामीण क्षेत्रों में व्यापक विकास तथा रोजगार सृजन की महत्वाकांक्षी कोशिशों का उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि श्रमिकों द्वारा काम मांगने तथा उस अनुरूप पर्याप्त काम उपलब्ध कराने की प्रक्रिया में कई जटिलताएं हैं। इसके लिए समुचित जागरूकता का अभाव भी एक महत्वपूर्ण कारण है। इसलिए राष्ट्रीय स्तर पर शुरू किए जा रहे काम मांगों अभियान का उद्देश्य जागरूकता पैदा करते हुए काम मांगने और काम देने की प्रक्रिया को आसान बनाना है।

MNREGA-12-Nov-2प्रसिद्ध सामाजिक कार्यकर्ता निखिल डे ने पांच दिवसीय कार्यशाला की रूपरेखा पर प्रकाश डालते हुए कहा कि काम मांगो अभियान अभी प्रयोग के तौर पर देश के छह राज्यों के छह जिलों के शुरू हो रहा है। लेकिन इसे देश के सभी छह सौ जिलों में शुरू करके मनरेगा के तहत मजदूरों को काम दिलाने की प्रक्रिया को आसान बनाना होगा। उन्होंने कहा कि काम मांगो अभियान के दौरान चयनित जिलों की हर पंचायत और हर वार्ड में रोजगार दिवस का आयोजन करके काम की मांग का पंजीयन किया जाएगा। साथ ही, सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि ऐसे सभी मजदूरों को काम उपलब्ध कराया जाए। अगर काम नहीं दिया गया तो बेरोजगारी भत्ता देना होगा। पूर्व आइएएस श्री विल्फ्रेड लकड़ा ने मनरेगा के अब तक के अनुभवों की चर्चा करते हुए कहा कि काम मांगो अभियान के जरिए इस कानून के बेहतर क्रियान्वयन में मदद मिलेगी। कार्यशाला में मनरेगा एडवाईजरी समिति के श्री एम डी अस्थाना, श्री ललित माथुर, झारखंड के मनरेगा आयुक्त श्री के श्रीनिवासन के अलावा मनरेगा से जुड़े सामाजिक कार्यकर्ता एवं पंचायत प्रतिनिधि शामिल हैं। यह कार्यशाला 16 नवम्बर तक चलेगी। एक दिन क्षेत्र भ्रमण भी होगा। इस कार्यशाला में चर्चा के आधार पर 18 नवम्बर से काम मांगो अभियान की शुरूआत होगी।