केरसई के पंचायत प्रतिनिधियों का उन्मुखीकरण

Snap2सिमडेगा जिले के केरसई प्रखण्ड के नवनिर्वाचित पंचायत प्रतिनिधियों का दो दिवसीय उन्मुखीकरण सह प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन दिनांक 1 एवं 2 फरवरी 2016 को किया गया। इस कार्यक्रम का आयोजन यूनीसेफ के सहयोग से साख फाउंडेशन द्वारा किया गया। इसमें केरसई प्रखण्ड की प्रमुख, पाँच ग्राम पंचायत के, मुखिया एवं वार्ड सदस्यों को त्रि-स्तरीय पंचायती राज व्यवस्था के कत्र्तव्य एवं अधिकारों के संबंध में विस्तार से चर्चा की गई। झारखण्ड पंचायती राज कानून 2001 के संबंध में केंदीय प्रशिक्षण संस्थान राँची के सेवानिवृत्त अधिकारी एवं पंचायती राज विभाग झारखण्ड के मान्यता प्राप्त मास्टर ट्रेनर श्री एन के सिंह द्वारा बताया गया। पंचायतों की प्रत्यायोजित शक्तियों के संबंध में यूनीसेफ के सलाहकार श्री सज्जाद मजीद के द्वारा प्रतिभागियों को पंचायत की भूमिका पर जानकारी दी गई।

फ्लॅगशिप कार्यक्रमों के संबंध में झारखझड पंचायत रिसोर्स सेंटर के श्री राजीव भारद्वाज ने पंचायत प्रतिनिधियों को बताया। दूसरी ओर, एस फाउंडेशन के श्री महेश अग्रवाल ने स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) कार्यक्रम के प्रावधानों एवं पंचायत की भूमिका के संबंध में बताया। यूनीसेफ के कार्यक्रम अधिकरी श्री ओंकार त्रिपाठी ने भी प्रतिभागियों से उनके अधिकार एवं जिम्मेवारी को स्पष्ट किया।

यूनीसेफ ने साख फाउंडेशन के साथ केरसई प्रखण्ड के आदिम जनजातियों के कल्याण हेतु एक पायलट प्रोजेक्ट की शुरूआत की है जिसके अन्तर्गत उन्हें जिला एंव स्थानीय प्रशासन के द्वारा उनके अधिकारों (म्दजपजसमउमदज) को उन तक पहुँचाने का प्रयास किया जायेगा। प्रोजेक्ट के संबंध में समन्वयक सुश्री दीपशिखा एवं साख फाउंडेशन के सचिव श्री मनोज सिंह ने उपस्थित प्रतिभागियों को जानकारी दी एवं पंचायत प्रतिनिधियों की भूमिका एवं अपेक्षित सहयोग के संबंध में अपनी बातें रखी।