ग्रामीण विकास मंत्री ने सर्ड में भगवान बिरसा मुंडा की प्रतिमा का अनावरण किया

JPWRC Logo copyरांची, 22 जनवरी 2015 :: झारखण्ड के ग्रामीण विकास मंत्री श्री नीलकंठ सिंह मुंडा ने आज सर्ड में भगवान बिरसा मुंडा की प्रतिमा का अनावरण किया। उन्होंने सर्ड में

भगवान बिरसा की प्रतिमा स्थापित किए जाने को गर्व का विषय बताते हुए कहा कि झारखंड के शहीदों के सपनों को साकार करने में ग्रामीण विकास संबंधी प्रशिक्षण का महत्वपूर्ण योगदान है। मंत्री जी नीलकंठ सिंह मुंडा ने सर्ड दक्षिणी परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा पर भी माल्यार्पण किया। इस अवसर पर ग्रामीण विकास विभाग के प्रधान सचिव श्री एन० एन० सिन्हा, सर्ड के निदेशक श्री प्रवीण कुमार टोप्पो, मनरेगा आयुक्त श्री पुरवार, झारखंड राज्य जलछाजन मिशन के सीईओ बी० निजलिंगप्पा भी उपस्थित थे।

सर्ड में आज झारखंड राज्य जलछाजन मिशन द्वारा चेकडैम निर्माण पर आयोजित दो दिवसीय कार्यशाला का भी आयोजन हुआ। कार्यशाला को संबोधित करते हुए ग्रामीण विकास मंत्री श्री नीलकंठ सिंह मुंडा ने कहा कि झारखंड के विकास में पानी का काफी महत्वपूर्ण योगदान है। इसके लिए एैसी व्यावहारिक चेकडैम योजनाएँ बनायी जानी चाहिए, जिसका व्यापक जनता को लाभ मिल सके। श्री मुंडा ने कहा कि केंद्र एवं राज्य सरकार के लिए ग्रामीण विकास का काम प्राथमिकता सूची में है। इसे पूरा करने में राज्य ग्रामीण विकास संस्थान तथा जलछाजन मिशन की महत्वपूर्ण भूमिका है।

कार्यशाला में ग्रामीण विकास विभाग के प्रधान सचिव श्री एन० एन० सिन्हा ने कहा कि केंद्र एवं राज्य सरकार ने ग्रामीण विकास के लिए विभिन्न प्रकार की योजनाएँ बनायी है। हरेक योजना के लिए समुचित फंड भी उपलब्ध है। इसका समुचित क्रियान्वयन करना आज की सबसे बड़ी आवष्यकता है। झारखंड जलछाजन मिशन के सीईओ बी० निजलिंगप्पा तथा मनरेगा आयुक्त श्री राहुल पुरवार ने भी कार्यशाला को संबोधित किया। सर्ड के निदेशक श्री प्रवीण कुमार टोप्पो ने कार्यशाला के प्रारंभ में स्वागत भाषण के दौरान ग्रामीण विकास संबंधी प्रशिक्षण कार्यक्रमों की जानकारी दी। कार्यशाला में पंचायती राज विभाग के निदेशक श्री शिवेद्र सिंह, सर्ड के उपनिदेशक श्री बिरेन्द्र कुमार सिंह, श्रीमती सुमन किस्पोट्टा, श्री महादेव धान के अलावा सर्ड के फेकेल्टी के विभिन्न विभागों के पदाधिकारी मौजूद थे। कार्यशाला के प्रतिभागियों में विभिन्न जिलों के उपविकास आयुक्त, जलछाजन मिशन से जुडे पदाधिकारी तथा विभिन्न विभागों के पदाधिकारीगण शामिल हैं।