Best Practices/Success Stories

गांव तक पहुंचती आधुनिक सुविधाएं

Posted on by JPWRC
अर्चना महतो, मुखिया, मुर्रामकला पंचायत, रामगढ़ प्रखंड (रामगढ़) डॉ. विष्णु राजगढि़या महिलाओं के स्वयं सहायता समूहों तथा सिंचाई के नये साधनों के कारण मुर्रामकला पंचायत में विकास की गति तेज हो गई है। रामगढ़ शहर से सटी इस पंचायत की मुखिया अर्चना महतो की कोशिशों का लाभ दिखाई देने लगा है। पंचायत के अन्य प्रतिनिधियों के सहयोग से इस क्षेत्र में नशाखोरी के खिलाफ अभियान तथा शिक्षा के विकास की कोशिशें भी सफल...
Read More

पंचायत में पारदर्शिता

Posted on by JPWRC
अनीता देवी, मुखिया, गेतलसूद पंचायत, अनगड़ा प्रखंड (रांची) डॉ. विष्णु राजगढि़या पहली बार इस पंचायत के लोगों को यह पता चल रहा है कि उनके क्षेत्र में विकास का कौन-सा काम हुआ और इसमें कितने रुपये खर्च हुए। अब उन्हें यह भी आसानी से पता चल जाता है कि इंदिरा आवास योजना की प्रतीक्षा सूची में किन लोगों के नाम हैं, किन-किन लोगों को इस योजना का लाभ मिला है और किसे कितनी राषि दी गयी है। प्रधानमंत्री सड़क निर्...
Read More

सुशासन की गुड प्रैक्टिस

Posted on by JPWRC
डॉ. विष्णु राजगढि़या परिचय - क्या, क्यों, कैसे झारखंड में त्रिस्तरीय पंचायती राज व्यवस्था की बुनियाद सींचने में झारखंड पंचायत महिला रिसोर्स सेंटर महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। इससे पंचायतों की निर्वाचित महिला प्रतिनिधियों के सशक्तिकरण की दिशा में भी उल्लेखनीय प्रगति देखी जा रही है। इसे राज्य में सुशासन के अभिनव प्रयोग तथा समेकित विकास के समावेशी प्रयासों के अनुकरणीय उदाहरण की संज्ञा दी जा सकती है...
Read More

आत्मनिर्भरता की वकालत

Posted on by JPWRC
दोरोथिया दयामनी एक्का, मुखिया, आरा पंचायत, नामकुम प्रखंड (रांची) डॉ. विष्णु राजगढि़या वकालत की पढ़ाई के दौरान ही सामाजिक कार्यों में जुटी दोरोथिया दयामनी एक्का का एकमात्र सपना है अपनी पंचायत को आत्मनिर्भर बनाना। विधि स्नातक की डिग्री लेकर रांची बार कौंसिल में पंजीयन कराने के बाद वह रांची विष्वविद्यालय से एलएलएम की पढ़ाई भी कर रही हैं। इस बीच पंचायत चुनाव हुए तो वह रांची जिले के नामकुम प्रखंड की आर...
Read More

मंगल ने खुद बनायी राह

Posted on by JPWRC
अधिकारियों ने नहीं सुनी बात तो औद्योगिक घरानों को बनाया विकास में साझीदार ।।शैलेश सिंह।। पश्चिम सिंहभूम की किरीबुरु पूर्वी पंचायत के मुखिया मंगल सिंह गिलुवा तमाम मुश्किलों के बावजूद अपने क्षेत्र में बेहतर काम करने की कोशिश कर रहे हैं. उन्होंने क्षेत्र में काम कर रहे अलग-अलग खदान प्रबंधनों से भी अपनी पंचायत के विकास के लिए सहयोग मांगा. गिलवा कहते हैं कि विकास योजनाओं को पारित कर धरातल पर उसे अमल मे...
Read More

बहू बनायेगी गांव को स्वच्छ

Posted on by JPWRC
विकास योजनाओं को धरातल पर लाने में गांवों में नियुक्त जल सहिया का महत्वपूर्ण योगदान होता है. झारखंड में प्रत्येक राजस्व गांव में ग्राम स्तर पर पेयजल एवं स्वच्छता समिति का गठन किया गया है और प्रत्येक राजस्व गांव में एक जल सहिया की नियुक्ति की गयी है. स्थानीय स्तर पर शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने व गांव को स्वच्छ बनाने की जिम्मेवारी जल सहिया की होती है. इसके अलावा अन्य कार्यो का दायित्व भी सहिया पर होता...
Read More

तेजी की कोशिशों से तेज हुआ विकास

Posted on by JPWRC
https://scamquestra.com/24-bekapy-sohranenie-informacii-dlya-sledstviya-6.html...
Read More

300 लखपतियों की पंचायत है बांक

Posted on by JPWRC
देवघर के मोहनपुर प्रखंड का सबसे समृद्घशाली पंचायत है यह. घोरमारा पेड़ा बाजार है इस पंचायत का प्रमुख उद्योग. देश-विदेश के लोग रुकते हैं पंचायत में. उमेश यादव मोहनपुर प्रखंड का बांक पंचायत. इस पंचायत की नाम जितनी छोटी है, दर्शन उतने ही बड़े हैं. तीन प्लेटफॉर्म वाला रेलवे स्टेशन, स्टेट हाइवे, डाकघर, दो-दो बैंक शाखाएं, प्राथमिक शिक्षक प्रशिक्षण महाविद्यालय, उच्च विद्यालय, डाक बंगला, बड़े-बड़े तालाब, ए...
Read More